क्या आप भी बार-बार डालते हैं आखों में आई ड्रॉप्स

eye_PNG6183नई दिल्ली। बारिश के मौसम में जो बीमारी सबसे ज्यादा हमें आपको परेशान करती है वो आँखों की। बीमारी का नाम है आई इंफेक्शन कंजंक्टिवाइटिस। हालांकि लोग इस बारे में भी सवाल करते हैं कि क्या ऐंटीबॉयटिक आई ड्ऱॉप्स इस बीमारी में कारगर होती हैं। इस मसले पर हुए कुछ शोधों की मानें तो कंजंक्टिवाइटिस मे आई ड्रॉप्स का प्रयोग करना मुश्किलों भरा साबित हो सकता है। एक पत्रिका में प्रकाशित शोध के अनुसार 60 फीसदी कंजंक्टिवाइटिस इंफेक्शन वायरस की वजह से होता है और इसके इलाज में एंटीबायोटिक कोई मदद नहीं करता। ये भी पढ़ें: अंधे पिता के सामने होता रहा रेप, गूंगी बेटी महीनों तक बता नहीं पाई ये तब होता है जब! कंजंक्टिवाइटिस एक ऐसी हालत है जब आंखो की अगली सतह पर पाई जाने वाली महीन झिल्ली पर जलन होने लगे और वो लाल हो जाए। इसके चलते आंखों में दिक्कत होती है। बता दें कि बारिश के मौसम में कंजंक्टिवाइटिस होना सामान्य है क्योंकि इस समय में नमी ज्यादा होती है जिसके चलते बैक्टेरिया और वायरस आसानी से बढ़ते हैं। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान या एम्स (AIIMS) के डॉक्टर अतुल कुमार का कहना है कि पहले एंटीबायोटिक की सलाह इसलिए दी जाती थी ताकि कॉर्नियां में कोई दूसरा इंफेक्शन ना हो। कई बार एंटीबायोटिक देना जरूरी होता है लेकिन इसके अधिक इस्तेमाल से बचना चाहिए नहीं तो आंखों की सतह पर नुकसान पहुंचने की आशंका बनी रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *