दिल्ली में मच्छरों का आतंक, बुखार को ना लें हल्के में!

दिमागी बुखार या यूं कहें की दिमाग में होने वाले इंफेक्शन के मामलों में दिल्ली में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है. लेकिन चिंता की बात ये है कि इस मानसून में सिर्फ दिमाग का ही इंफेक्शन नहीं है बल्कि डॉक्टर्स ने दो तरह के इफंक्शन की पुष्टि की है.

dengue-and-fogging_p_220913नई दिल्लीः दिमागी बुखार या यूं कहें की दिमाग में होने वाले इंफेक्शन के मामलों में दिल्ली में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है. लेकिन चिंता की बात ये है कि इस मानसून में सिर्फ दिमाग का ही इंफेक्शन नहीं है बल्कि डॉक्टर्स ने दो तरह के इफंक्शन की पुष्टि की है.

MCD ने हाल ही में रिपोर्ट जारी की थी जिसके मुताबिक, 1 जुलाई तक मलेरिया के 71, डेंगू के 55 और चिकनगुनिया के 108 मामले सामने आ चुके हैं.

क्या कहते हैं डॉक्टर्स-
डॉक्टर्स के मुताबिक, अभी आने वाले मरीजों में डबल इंफेक्शन यानि मरीजों को मलेरिया के साथ डेंगू या मलेरिया और चिकनगुनिया एक साथ हो रहा है. गंगाराम हॉस्पिटल में 7 मरीजों में डबल इंफेक्शन की पुष्टि हुई है.

गंगाराम हॉस्पिटल के मेडिसिन डिपार्टमेंट के डॉ. अतुल गोगिया का कहना है कि डबल इन्फेक्शन में मलेरिया का इलाज पहले किया जाना चाहिए. वैसे भी डेंगू और चिकनगुनिया के लक्षणों का इलाज होता है.

आपको बता दें, पिछले साल एम्स में ऐसे मामले देखने को मिले थे लेकिन बहुत कम. कई मरीजों को डेंगू और चिकनगुनिया दोनों ही थे . जबकि कुछेक मरीजों में मलेरिया और चिकनगुनिया देखने को मिला था.

चिकनगुनिया को डेंगू एडीस मच्छर के कारण होता है जबकि मलेरिया परजीवी प्रोटोजोआओं मच्छर की प्रजाति के कारण होता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *